भारत बनाम वेस्टइंडीज T20: टीम इंडिया से हुईं ये पांच गलतियां और हाथ से निकल गया मैच

215
रवि शास्त्री और विराट कोहली।
Breaking News
There is no post

भारत ने भले ही वेस्टइंडीज को वनडे सीरीज में मात दे दी हो, लेकिन कैरेबियाई टीम ने टी20 मैच में अपने प्रदर्शन से साबित कर दिया कि इस फॉर्मेट पर तो उसी का दबदबा है। विंडीज टीम के कप्तान कार्लोज ब्रेथवेट ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी रही और विराट कोहली और शिखर धवन की जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 64 रनों की पार्टनरशिप की। लेकिन अगले कुछ क्षणों में दोनों ओपनर आउट हो गए और भारत का स्कोर हो गया 65/2। इसके बाद दिनेश कार्तिक और ऋषभ पंत की सूझबूझ भरी बल्लेबाजी की बदौलत भारत ने विंडीज के सामने 190 का स्कोर खड़ा कर दिया। जवाब में विंडीज की शुरुआत थोड़ी खराब रही और 20 गेंदों पर 18 रन बनाकर विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल चलते बने। लेकिन इसके बाद मार्लन सैमुअल्स और इविन लुईस ने टीम को 9 विकेट से जीत दिला दी। लुईस ने 62 गेंदों में 125 रन ठोक डाले। लेकिन मैच का पासा कहां पलटा, कहां टीम इंडिया के हाथों से मैच निकल गया। आपको बताते हैं:
कोहली-धवन का विकेट: विराट कोहली और शिखर धवन की जोड़ी ने मैच में भारत को ठोस शुरुआत दिलाई। पहले ओवर में भारत ने 13 रन बना दिए। कोहली के आउट होने से पहले 5.2 ओवरों में भारत का स्कोर 64 रन था। लेकिन धवन और कोहली जल्दी-जल्दी आउट होने से इस रफ्तार पर ब्रेक लग गया।
जेरॉम टेलर ने दिया दोहरा झटका: 7 महीने तक टीम से बाहर रहे टेलर ने इस मैच में शानदार प्रदर्शन किया। हालांकि उनके पहले ओवर में 13 रन बने थे। लेकिन उन्होंने बेहतरीन वापसी करते हुए पहले महेंद्र सिंह धोनी और उसके बाद ऋषभ पंत को पवेलियन भेजा, जो टीम इंडिया के लिए करारा झटका था।
पंत का संघर्ष: इस दौरे पर पहली बार प्लेइंग इलेवन में ऋषभ पंत को जगह दी गई थी। अपना दूसरा टी20 मैच खेल रहे इस विकेटकीपर बल्लेबाज से काफी उम्मीदें थीं। लेकिन वह उतना शानदार प्रदर्शन नहीं कर पाए। जिस विकेट पर विराट कोहली, दिनेश कार्तिक और फिर इविन लुईस ने शानदार बल्लेबाजी की, वहां पंत संघर्ष करते दिखे। एक वक्त पर भारत 210 तक पहुंचता दिख रहा था, लेकिन पंत के आउट होने से भारत 190 पर ही सिमट गया।
वेस्टइंडीज का मुंहतोड़ जवाब: भारतीय स्कोर का पीछा करने उतरे क्रिस गेल और इविन लुईस ने आते ही भारतीय गेंदबाजों की बखिया उधेड़नी शुरू कर दी। पहले 6 ओवरों में दोनों ने 66 रन बना डाले। लुईस तो गेल से भी खतरनाक लग रहे थे। उन्होंने 30 गेंदों में 61 रन ठोक डाले। गेल तो 18 रन बनाकर कुलदीप का शिकार बन गए, लेकिन लुईस ने शतक जड़ते हुए टीम को जीत दिला दी।
लुईस को मिले जीवनदान: लुईस छठे ओवर में ही पवेलियन लौट चुके होते, अगर मोहम्मद शमी और विराट कोहली के बीच मिसकम्युनिकेशन नहीं हुआ होता। वह दोनों उनका कैच लेने के लिए दौड़ रहे थे। हालांकि विराट कैच लेने की बेहतर स्थिति में थे, लेकिन दोनों ही हवा और स्टेडियम में शोर के कारण एक दूसरे की कॉल नहीं सुन पाए। अगले ओवर में दिनेश कार्तिक भी उनका कैच लेने में असफल रहे। इसके बाद लुईस ने 62 गेंदों में 12 छक्के जड़ते हुए 125 रन बना डाले।

http://www.alconi.ro/?buy-dissertation-papers